Career Oriented Courses - ( रोजगारोन्मुखी पाठ्यक्रम )


पत्रकारिता में करियर


प्रायः इलेक्ट्रॉनिक मीडिया और प्रिंट मीडिया को अलग-अलग करके देखा जाता हैं। वास्तव में यह भ्रामक तथ्य हैं। मूलभूत रूप में दोनों क्षेत्रों में एक समान पत्रकारिता कार्य होते हैं।
इसमें भी सूचना व समाचारों का इकट्‌ठा करना, दृश्यों का चित्रण (Visual Footage), उनकी रिकॉर्डिंग, स्क्रिप्ट तैयार करना, सम्पादन करना व प्रस्तुत करना जैसे कार्य किए जाते हैं।
टेलीविजन के लिए सीधी प्रस्तुति (Live Coverage) भी की जाती हैं। वीडियों मैंगजीन के लिए प्रिन्ट मीडिया की भांति समाचारों व घटनाओं का प्रस्तुतीकरण किया जाता हैं।
रेडियों ब्राडकास्टिंग के लिए भी तथ्यों की खोज, स्क्रिप्ट बनाना, रिकार्डिंग करना जैसे कार्य शामिल होते हैं।
कैरियर का स्तर व उन्नति
पत्रकारिता में पदोन्नति की कोई निश्चित रूप-रेखा नहीं होती। सम्पादक, उप सम्पादक के लिए अनेक कार्य रिपोर्टर ही करते हैं। कुछ पत्रकार जल्दी ही तरक्की करके सम्पादक तक के पद पर पहुंच जाते हैं। यह व्यक्ति की योग्यता पर निर्भर करता हैं कि कौन कितनी तरक्की करता हैं। सबसे पहले ट्रेनी या रिपोर्टर होते हैं जो प्रतिदिन पुलिस स्टेशन, समाचार ब्यूरों व सरकारी एजेंसी में जाकर समाचार इकट्‌ठे करतें हैं। फिर उनसे ऊपर सीनियर रिपोर्टर होते हैं फिर मुखय रिपोर्टर, उप सम्पादक व संपादक का नंबर आता है।
पत्रकारिता के लिए गुण
पत्रकार में विस्तृत शैक्षिक ज्ञान व सामान्य ज्ञान होना चाहिए। लिखने की कला भी उसे आनी चाहिए। पत्रकार को विभिन्न सामाजिक विषयों व आधुनिक गतिविधियों में रूचि होनी चाहिए।
पत्रकार का खुले दिमाग का परन्तु जिज्ञासु प्रवृत्ति का होना चाहिए। किसी भी स्थिति को तुरन्त समझने की क्षमता होनी चाहिए। उसे लोगों से सम्बन्ध बनाने में कुशल होना चाहिए। किसी भी घटना को स्पष्ट व सही लिखने की योग्यता पत्रकार में होनी चाहिए।
पत्रकार को परिश्रमी व साहसी भी होना चाहिए, क्योंकि कई बार समय-असमय छुट्‌टी के दिन भी उसे काम करना पड़ता हैं, मौके पर पहुंचकर स्थिति का जायजा लेना पड़ता हैं।
सम्पादक व उप सम्पादक का भाषा पर अच्छा नियंत्रण होना चाहिए ताकि रिपोर्टर द्वारा की गई गलती उसी प्रकार न छप जाए। उसमें लेखन की अद्‌भुत क्षमता होनी चाहिए। प्रूफ रीडिंग का ज्ञान होना भी आवश्यक हैं। आजकल कम्प्यूटर का ज्ञान भी अतिरिक्त योग्यता मानी जाती हैं।
किसी भी पत्रकार को आत्मविश्वास से भरपूर व गुणी (Tactful) होना चाहिए ताकि वह किसी भी व्यक्ति का इंटरव्यू आसानी स ेले सके। पत्रकार को सदैव चुस्त व चौकन्ना रहना चाहिए ताकि हर महत्वपूर्ण गतिविध पर नजर रख सकें। चूंकि पत्रकार को कभी भी मौसम में यात्रा करनी पड़ती हैं या बाहर जाना पड़ सकता हैं अतः उसका स्वास्थ्य उत्तम होना अत्यन्त आवश्यक हैं।
ट्रेनिंग व प्रवेश
पत्रकार बनने के लिए यह आवश्यक नहीं कि आपने उसकी औपचारिक ट्रेनिंग ली हो। यद्यपि औपचारिक ट्रेनिंग लेने से नए व्यक्ति को कार्य सीखना आसान हो जाता हैं। पूर्ण समर्पण व मेहनत से ही सफल पत्रकार बना जा सकता हैं।
पत्रकार की शिक्षा के लिए सामान्यतया बी.ए. या किसी भी विषय में डिग्री होना पर्याप्त हैं, परन्तु यह योग्यता अलग-अलग यूनिवर्सिटी में अलग-अलग हैं। इसी प्रकार टे्रनिंग की अवधि भी भिन्न-भिन्न हैं।
रोजगार के अवसर
समाचार पत्र के कार्यालय में
पत्रिका के कार्यालय में
न्यूज एजेन्सी या ब्यूरों में
किसी अन्तर्राष्ट्रीय अखबार या एजेंसी के क्षेत्रीय ब्यूरो या दफ्तर में
टेलीविजन या रेडियों में
विज्ञापन व दृश्य निदेशालय जैसी सरकारी एजेंसी में (Directorate of Advertising and Visual Publicity)
प्रसार निदेशालय में (Directorate & Field Publicity)
सूचना व प्रसारण मंत्रालय में
प्राइवेट व पब्लिक सेक्टर के प्रेस क्षेत्रों में
स्वतंत्र पत्रकार के रूप में (लेकिन अनुभव हो जाने पर ही स्वतंत्र पत्रकार के रूप में कार्य करना ठीक रहता हैं।
विज्ञापन एजेंसी में-
विज्यूलाइजर, स्क्रिप्ट राइटर को-ऑर्डिनेटर, ले आउट आर्टिस्ट
पाठ्यक्रम
मास कम्यूनिकेशन कोर्स
मास कम्यूनिकेशन एक ऐसा कोर्स है जिसे करने के बाद आप पत्रकारिता, विज्ञापन, फिल्म, रेडियों, दूरदर्शन के किसी भी क्षेत्र में प्रवेश कर सकते हैं। यह कोर्स व्यक्ति की कलात्मक एवं रचनात्मक प्रतिभा को बढ़ता हैं। इस पाठ्‌यक्रम में फिल्म, रेडियों विधा, संपादन, प्रोडक्शन, फिल्म समीक्षा आदि विस्तार से पढ़ाए जाते हैं।

Experience Career Notion on Mobile Now

We are pleased to launch the Career Notion Android App.
Career Notion App is available for download from Google Play Store.

Get Our Android App
© 2017 - CareerNotion, All Rights Reserved